Thank you!
Our representative will contact you shortly
Error occurred while submitting data. Please try again after some time.
Fill in the details below

We will call you back as soon as possible

होम लोन क्या है, और इसके प्रकार क्या है?

Nov 28, 2022
प्रॉपर्टी टैक्स क्या है और इसकी गणना कैसे की जाती है?

मान लीजिए आप घर खरीदने जा रहे हैं, लेकिन कुछ पैसे कम पड़ जाए, तो क्या करेंगे। आप किसी से पैसा उधार ले सकते हैं या किसी महाजन से कर्ज ले सकते हैं। लेकिन, इसमें दो दिक्कत आ सकती है। आपको जितनी जरूरत है उससे कम पैसे मिल सकते हैं या फिर जरूरत के पैसे मिलेंगे भी तो बहुत ज्यादा ब्याज पर।

ऐसे में फुलर्टन गृहशक्ति होम लोन आपकी मदद कर सकता है। यहां से आप किफायती ब्याज पर अपनी जरूरत के हिसाब से होम लोन ले सकते हैं। अब होम लोन को लेकर कई सवाल आपके मन में उठ रहे होंगे। यहां उन्हीं सवालों के जवाब दिए जा रहे हैं।

होम लोन क्या है?

होम लोन ऐसी रकम होती है, जिसे कोई व्यक्ति फुलर्टन गृहशक्ति जैसी एनबीएफसी या बैंक या वित्तीय संस्थान से अपना घर खरीदने के लिए उधार लेता है। बाद में वह हर महीने एक निश्चित तारीख को ईएमआई के तौर पर उस एनबीएफसी या बैंक या वित्तीय संस्थान को उधारी चुकाता है। ईएमआई में मूलधन और ब्याज दोनों शामिल होते हैं।

होम लोन सिक्योर्ड लोन होते हैं। इसलिये कोई भी एनबीएफसी या बैंक या वित्तीय संस्थान लोन लेने वाले व्यक्ति की संपत्ति को सिक्योरिटी के तौर पर गिरवी रखकर होम लोन देते हैं। एनबीएफसी या बैंक या वित्तीय संस्थान ग्राहक द्वारा पूरा लोन चुकाने के बाद उसकी संपत्ति वापस करते हैं।

होम लोन के प्रकार:

1- घर से जुड़े काम के आधार पर होम लोन के प्रकार:

आप घर से जुड़े कई कामों के लिए होम लोन ले सकते हैं। इस आधार पर भारत में निम्न प्रकार के होम लोन होते हैं:

-घर खरीदने के लिए 

-घर बनवाने के लिए 

-जमीन खरीदने के लिए

-घर की मरम्मत के लिए

-घर में कुछ नया निर्माण के लिए 

-टॉप अप लोन (पुराने लोन पर ही अतिरिक्त होम लोन)

-ब्रिज होम लोन (नए घर के लिए कम पड रही रकम के

लिए छोटा होम लोन)

-जमीन खरीदने और घर बनवाने के लिए एक साथ होम लोन

-संयुक्त होम लोन (दो या दो से अधिक व्यक्ति द्वारा लिया गया होम लोन, जैसे-पति/पत्नी)

-एनआरआई होम लोन

-एक बैंक के बैलेंस होम लोन का दूसरे बैंक में ट्रांसफर

2- ईएमआई में जोड़ी जाने वाली ब्याज दर में बदलाव के आधार पर होम लोन के प्रकार:

-फिक्स्ड रेट होम लोन: इसमें होम लोन जारी करते समय जो ब्याज दर होती है, पूरा लोन चूक जाने तक वही ब्याज दर होती है। ब्याज दरों के घटने-बढ़ने का इस पर असर नहीं होता है।  

-फ्लोटिंग रेट होम लोन: ब्याज दरों के घटने-बढ़ने का असर इस तरह के होम लोन में होता है। ब्याज दर बढ़ने पर ईएमआई बढ़ जाती है, जबकि ब्याज दर घटने पर ईएमआई घट जाती है। 

 

-हाइब्रिड रेट होम लोन: जो लोग फिक्स्ड और फ्लोटिंग रेट को लेकर उलझन में हैं, वे बीच का रास्ता यानी हाइब्रिड रेट होम लोन चुन सकते हैं। इसमें आधी लोन रकम का भुगतान फिक्स्ड रेट पर कर सकते हैं और आधी रकम को फ्लोटिंग रेट पर चुका सकते हैं।

गृहशक्ति होम लोन के लिए इस इस लिंक पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर दीजिए।

*फौजदारी शुल्क के अधीन। नियम और शर्तें लागू। फुलर्टन इंडिया होम फाइनेंस कंपनी लिमिटेड के विवेक पर लोन प्रदान किए जाते हैं। हमारी पालिसी के अनुसार फीस और चार्जेज पर जीएसटी लागू हो सकते हैं। कृपया ध्यान दें कि लोन फुलर्टन इंडिया के फैसले पर निर्भर है। अधिक जानकारी के लिए कृपया हमसे संपर्क करें

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ):

होम लोन क्या है?

घर से जुड़े कामों के लिए किसी भी एनबीएफसी, बैंक या वित्तीय संस्थान से लिया जाने वाला लोन होम लोन कहलाता है। ये सिक्योर्ड लोन होता है।

होम लोन कितने साल के लिए मिलता है?

अधिकतम 30 साल के लिए

महिलाओं को होम लोन कैसे मिलता है?

होम लोन के लिए योग्य महिला आवेदक को जिस एनबीएफसी, बैंक या वित्तीय संस्थान से लोन लेना, वहां आवेदन फॉर्म भरना होगा। फिर मांगे गए जरूरी दस्तावेज जमा करने होंगे।

होम लोन लेने के लिए क्या क्या दस्तावेज चाहिए?
होम लोन के लिए जरूरी दस्तावेज

दस्तावेज के प्रकार 

नौकरीपेशा के लिए 

स्व-रोजगार करने वालों के लिए 

पहचान का प्रमाण 

-पैन कार्ड

-वोटर आईडी

-ड्राइविंग लाइसेंस 

-नियोक्ता कार्ड


-पैन कार्ड 

-वोटर आईडी 

-ड्राइविंग लाइसेंस 

आय का प्रमाण 

-2 साल का फॉर्म 16

-सैलरी क्रेडिट के साथ  पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट

-पिछले 3 महीने की सैलरी स्लिप

-पिछले 2 वर्षों का आईटीआर


-गणना के साथ पिछले 2 वर्षों का आईटीआर 

-कंपनी/फर्म की बैलेंस शीट और लाभ-हानि अकाउंट स्टेटमेंट (सी.ए. से प्रमाणित)

-बिजनेस लाइसेंस की जानकारी 

-प्रोफेशनल प्रैक्टिस का लाइसेंस (डॉक्टरों, सलाहकारों, सीए आदि के लिए)

-बिजनेस स्थापित करने का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट 

-पिछले 6 महीने का प्राथमिक बैंक स्टेटमेंट


निवास का प्रमाण 

-आधार कार्ड 

-बैंक पासबुक

-मतदाता पहचान पत्र

-राशन कार्ड

-पासपोर्ट

-यूटिलिटी बिल (टेलीफोन/बिजली/पानी/ गैस बिल)


-आधार कार्ड 

-बैंक पासबुक

-मतदाता पहचान पत्र

-राशन कार्ड

-पासपोर्ट

-यूटिलिटी बिल (टेलीफोन/बिजली/पानी/ गैस बिल)


होम लोन कितने प्रकार के होते हैं?
-फिक्स्ड रेट
-फ्लोटिंग रेट
-हाइब्रिड रेट

*नियम और शर्तें लागू। फुलर्टन गृहशक्ति के विवेक पर लोन वितरित किए जाते हैं |

Fullerton India Home Finance Company Ltd
CIN number: U65922TN2010PLC076972
IRDAI COR No: CA0492

All rights reserved © - GRIHASHAKTI

Follow us LinkedIn facebook Instagram Twitter Youtube